दुनिया के ऐसे चार देश, जहा कोई सीमा सुरक्षा बल नहीं, देखिये ऐसे होती है सीमा की सुरक्षा

Four countries in the world which has no army

वैसे तो आप सभी इस चीज़ से वखिफ होंगे की किसी भी देश में दो तरह के सुरक्षा बल होते है, पहला पुलिस और दूसरा सेना | देश की आतंरिक सुरक्षा के लिए पुलिस होती तथा बाहरी सुरक्षा के लिए सेना या यु कहे सीमा सुरक्षा के लिए सेना | लेकिन अब हम जो आपको बताने जा रहे है उससे आप जानकर हैरान हो जायेंगे  वह यह है की दुनिया में चार देश ऐसे भी है जिनकी अपनी खुद की कोई सेना ही नहीं है  | हैरान हो गए ना, वैसे आपको बता दे इनमे से कुछ देशो की सुरक्षा की जिम्मेदारी तो दूसरे देश उठाते हैं |

1. मॉरीशस बहुत ही खूबसूरत और एक बहुसांस्कृतिक देश है। यहां भी साल 1968 से ही किसी तरह की कोई सेना नहीं है। हालांकि यहां 10,000 पुलिस कर्मी हैं, जो आंतरिक और बाहरी दोनों तरह की सुरक्षा की जिम्मेदारी संभालते हैं।

2. आइसलैंड के परिदृश्य प्रत्येक कोण से और दिन के हर समय अलग दिखते हैं। यूरोप के दूसरे सबसे बड़े द्वीप आइसलैंड में भी साल 1869 से ही कोई सेना नहीं है। यह देश नाटो का सदस्य है और इसकी सुरक्षा की जिम्मेदारी अमेरिका की है। 

3.मोनाको दुनिया की सबसे घनी आबादी वाला और  दूसरा छोटा सा देश है, जहां 17वीं शताब्दी से किसी तरह की कोई सेना नहीं है। हालांकि यहां दो छोटी-छोटी फौजी टुकड़ियां हैं, जिसमें से एक राजकुमार की सुरक्षा करती है और एक नागरिकों की। इस देश की सुरक्षा फ्रांस की जिम्मेदारी है।

4. वैटिकन सिटी इटली की राजधानी रोम के अंदर स्तिथ है , जो की दुनिया का सबसे छोटा देश है, उसके पास किसी भी तरह की कोई आर्मी (सेना) नहीं है। यहां पहले नोबल गार्ड हुआ करते थे, लेकिन साल 1970 में इस संस्था को ध्वस्त कर दिया गया। इस देश की सुरक्षा की जिम्मेदारी इटली सेना की है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *